फ्रीलांसिंग वर्क क्या होता है, फ्रीलांसिंग वर्क करके पैसे कैसे कमाए

फ्रीलांसिंग वर्क क्या होता है – Freelancing work का मतलब किसी दूसरे व्यक्ति के लिए कार्य करना होता है पहले के टाइम में फ्रीलांसिंग वर्क के बारे में कोई नहीं जानता था लेकिन अभी के टाइम में कई सारे लोग फ्रीलांसिंग वर्क को परमानेंट तौर पर कर रहे हैं और इससे अच्छी खासी इनकम कर रहे हैं फ्रीलांसिंग वर्क कहीं तरह के होते हैं जिनके बारे में हम आपको आगे बताएंगे पहले यह समझ लो कि किसी भी व्यक्ति के लिए उसका कार्य करके देना फ्रीलांसिंग वर्क कहलाता है, Freelancing work कुछ लोग पार्ट टाइम बेस पर और कुछ लोग फुल टाइम बेस पर भी करते हैं और कई लोगों ने तो फ्रीलांसिंग वर्क को एक बहुत ही बड़ा बिजनेस बना लिया एक कंपनी बना ली जिसमें की कई सारे एम्पलाई काम करते हैं और कई सारी कंपनियों या सोशल मीडिया इनफ्लुएंसर का कार्य करके देते हैं और धीरे-धीरे फ्रीलांसिंग का चलन बढ़ता ही जा रहा है अब हम आपको फ्रीलांसिंग करने के कुछ प्लेटफार्म के नाम बताएंगे जिस पर जाकर आप चेक कर सकते हो कि फ्रीलांसिंग वर्क कैसे करते हैं और उसमें क्या-क्या आता है

Freelancing फ्रीलांसिंग वर्क करने के लिए कुछ वेबसाइट एंड एप्लीकेशन के नाम

  • upwork
  • Fiver
  • guru, com
  • Freelancer.com
  • Homebased.work
  • Simplyhired
  • Envato
  • यह कुछ ऐसी वेबसाइट और मोबाइल एप्लीकेशन के नाम है जिन पर की फ्रीलांसिंग वर्क किया जाता है फ्रीलांसिंग वर्ग कई तरीके के होते हैं जिसके पास जैसी स्केल होती है वह वही फ्रीलांसिंग वर्क करता है,

(Freelancing) फ्रीलांसिंग काम करने के प्रकार

फ्रीलांसिंग वर्क कई तरीके से होते हैं और यह वर्ग ज्यादातर इंटरनेट और सोशल मीडिया वाले ही होते हैं जैसे कि कई सारे लोग सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वीडियो क्रिएशन का काम करते हैं

  • Content writing – जैसे कि कई सारे लोग सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वीडियो क्रिएशन का काम करते हैं वीडियो शूट करते हैं और अपलोड करते हैं तो ऐसे में वीडियो शूट करने के लिए उनको पहले कंटेंट लिखना होता है तो ज्यादातर लोग वीडियो शूट करने के लिए कंटेंट किसी अदर व्यक्ति से लिखवाते हैं इसके बदले में उसको कुछ पैसा पे करते भुगतान करते हैं तो जो व्यक्ति उनका कांटेक्ट लिखकर देता है वह फ्रीलांसिंग वर्क करता है फ्रीलांसर होता है इसके बदले में वह जिसको कंटेंट लिख कर देता है उसे पैसे लेता है तो फ्रीलांसिंग करने का एक तरीका कंटेंट राइट करना होता है
  • Video Editing – अब जिस तरह वीडियो बनाने के लिए किसी दूसरे व्यक्ति से कंटेंट लिखवाते हैं तो वीडियो शूट करने के बाद में वीडियो को एडिटिंग भी करवाना होता है एडिटिंग करने में कई सारे बैकग्राउंड म्यूजिक और बैकग्राउंड इमेज यह सारा कुछ ऐड करना होता है और वीडियो शूट करते टाइम कई सारे पार्ट ऐसे ही आ जाते हैं तो उनको कट करके वीडियो अच्छे से कंप्लीट करना होता है तो किसी दूसरे व्यक्ति वीडियो एडिटिंग करना फ्रीलांसिंग वर्क होता है
  • Graphics design – फ्रीलांसिंग वर्क में ग्राफिक डिजाइनिंग भी की जाती है जैसे कि थंबनेल वगैरह बनाना बैनर बनाना अच्छा सा लोगो बनाना इस तरह के सारे कार्य ग्राफिक डिजाइनिंग के अंतर्गत आते हैं तो किसी सोशल मीडिया कंटेंट क्रिएटिंग करने वाले व्यक्ति के लिए या किसी कंपनी के लिए ऐसे काम करके देना और उसके बदले में कुछ पैसे चार्ज करना यह फ्रीलांसिंग कर के अंतर्गत आता है

फ्रीलानसिंग वर्क की शुरुआत कैसे करे,

फ्रीलांसिंग वर्क की शुरुआत करने के लिए आपको किसी एक चीज में जो हमने बताई हैं इसके अलावा और भी कई सारे फ्रीलांसिंग काम होते है उनमे से किसी न किसी एक चीज मे फुल स्किल्ड होना होता है ताकि जिससे किसी और के लिए अच्छे से काम कर सके क्युकी जब तक आपके पास काम करने की सही स्किल नही होगी तब तक आपके पास काम करने के ऑर्डर नही आयेंगे जब आप किसी को सही तरीके से कम करके दोगे तभी आप फ्रीलांसिंग वर्क करके कमाई कर पाओगे क्योंकि फ्रीलांसिंग वर्क करने वाले भी कई सारे लोग हैं जो कि आज के टाइम में फ्रीलांसिंग वर्क करते हैं धीरे-धीरे इसमें भी कंपटीशन बढ़ता जा रहा है लेकिन उसके बाद भी फ्रीलांसिंग करने वालों की जरूरत है क्योंकि दिन प्रतिदिन सोशल मीडिया क्रिएटर और जिनको फ्री लाइसेंस की जरूरत है वह बढ़ते जा रहे हैं तो फ्रीलांसिंग का काम भी बढ़ रहा है ऐसे में अगर आप अच्छा क्वालिटीबल काम करते हैं और कोई कस्टमर आपसे करवा कर खुश होता है तो वह आगे तक आपको ही कम देता है इसलिए किसी एक चीज में अच्छी तरह स्किल होना जरूरी होता है ताकि जिससे अच्छे तरीके से कम किया जा सके,

Leave a Comment