हीरो होंडा कंपनी अलग कैसे हुई , hero honda company history

इंडिया की हीरो और जापान की होंडा कंपनी के अलग होने का कारण जानिए क्या हुआ था विवाद

हीरो होंडा कंपनी अलग कैसे हुई – मोटर व्हीकल की दो बड़ी कंपनियां हीरो और होंडा अलग कैसे हुई चलिए मालूम करते हैं 1983 के टाइम पर जब इंडिया में केवल स्कूटर चलती थी बाइक नहीं तब के टाइम पर जापान की होंडा कंपनी सबसे अच्छी बाइक बनाने वाली कंपनी थी और इंडिया की हीरो कंपनी सबसे अच्छी साइकिल बनाने वाली कंपनी थी तब के टाइम पर दोनों कंपनियों ने आपस में समझौता किया था कि हीरो कंपनी बाइक की बॉडी बनाएगी और होंडा कंपनी बाइक का इंजन बनाएगी तो उसे टाइम पर इन दोनों कंपनियों ने अपनी पहली बाइक 1985 मे CD 100 लांच की थी जो की स्कूटर से कम कीमत में थी और दिखने में अच्छी थी तो स्कूटर को पीछे करके बहुत ज्यादा बिकी जिससे की कंपनी को बहुत अच्छा फायदा हुआ और हीरो होंडा कंपनी इंडिया की नंबर वन सबसे अच्छी कंपनी बन गई

और बाद में हीरो कंपनी ने अपनी बाइक बनाकर जापान में बेचने की बात कही तो होंडा कंपनी ने मना कर दिया लेकिन होंडा कंपनी ने हीरो कंपनी की सारी सीक्रेट इनफॉरमेशन चुराकर केवल होंडा की बाइक इंडिया में बनाकर भेजी जो की बहुत ज्यादा बिकने लगी जिससे कि होंडा कंपनी को फायदा होने लगा और हीरो कंपनी लॉस में चली गई जिस कारण से दोनों में बिगाड़ हो गए और वह अलग हो गई

Leave a Comment