Chat Gpt kya he – chat gpt Or google me kya fark he

Chat Gpt kya he – CHAT GPT जब से आया है तभी से चर्चा में बना हुआ है और चैट जीपीटी का इस्तेमाल मिलियंस ऑफ मोबाइलों में होने लगा है सभी लोग चैट जीपीटी पर अपनी अपनी राय दे रहे हैं किसी का मानना है कि यह अच्छा सॉफ्टवेयर है किसी का मानना है कि अच्छा नहीं है chat gpt के आने से कई नौकरियां खत्म हो जाएगी कई लोगों को मानना है कि बच्चे इसका इस्तेमाल करेंगे और स्टडी में स्वयं का दिमाग यूज नहीं करेंगे जो की ठीक नहीं रहेगा तो आगे आपको समझाएंगे चैट जीपीटी क्या है कैसे काम करता है आप इस पर कैसे सर्च कर सकते हैं चैट जीपीटी के नेगेटिव प्रभाव क्या है पॉजिटिव प्रभाव क्या है और चैट जीपीटी आपको जवाब किस तरह देता है

  • Read This In Article – 5.5
  • 1.चैट जीपीटी कैसे काम करता है
  • 2. चैट जीपीटी का फुल फॉर्म
  • 3. चैट जीपीटी की अपोजिट साइड
  • 4. चैट जीपीटी की नेगेटिव साइड
  • 5. क्या चैट गुप्त से नौकरियां कम होगी
  • 6. चैट जीपीटी क्या गूगल को रिप्लेस कर सकता है

चैट जीपीटी कैसे काम करता है

कोशिश करेंगे बहुत ही आसान भाषा में आपको chat gpt का मतलब समझा सके जैसे कि आपको जब भी कुछ जानना होता है किसी भी सवाल का जवाब चाहिए होता है तो उसके लिए गूगल सर्च इंजन पर जाकर सर्च करते हो और वहां से अपने सवाल का जवाब देखते हो, गूगल आपको कई सारी वेबसाइट के द्वारा आपके सवाल के हिसाब से जबाब दिखता है और आप अपने हिसाब से किसी एक वेबसाइट पर क्लिक करके अपने सवाल का जवाब देखते हो आपके सवालों का जवाब देने का ठीक काम ही चैट जीपीटी करता है, लेकिन चैट जीपीटी के जवाब देने का तरीका गूगल से बहुत ही अलग है जिस तरह गूगल आपको कई सारी वेबसाइट के द्वारा दिखाता है लेकिन चैट जीपीटी पर कोई भी क्वेश्चन टाइप करने पर जब आप जवाब मांगते हो तो आपको वहां से सीधा सा जवाब मिलता है आपको कहीं भी वेबसाइटों के अंदर विजिट कर करके अपने सवाल का जवाब ढूंढने की जरूरत नहीं पड़ती है आपको डायरेक्टली आपका अंसर मिल जाता है आप अपने किसी भी सवाल का जवाब चैट जीपीटी पर टाइप करते हो तो चैट जीपीटी आपको उसका जवाब डायरेक्टर देता है चैट जीपीटी की इसी क्वालिटी ने चैट जीपीटी को बहुत ही जल्द मिलियन डाउनलोड तक पहुंचा दिया था जो कि अपनी शुरुआत बड़ी बड़ी कंपनियों जैसे YouTube, Facebook, Instagram नहीं कर पाई थी

चैट जीपीटी पर आप स्टडी से रिलेटेड भी कोई सवाल पूछते हो तो स्टडी से जुड़ा कोई भी सवाल हो तो चैट जीपीटी आपका सटीक से जवाब दे देता है

चैट जीपीटी का फुल फॉर्म full form

Chat GPT – chat generative pre trend – Chat Gpt open AI -Artificial intelligence ke base par kaam karta he, chat gpt पर जब आपको सर्च करते हो तो ऐसा लगता है जैसे आप किसी इंसान से चैटिंग कर रहे हो बात कर रहे हो जैसे चैट जीपीटी पर आप जो भी जानना चाहते हो कई सालों पुराना इतिहास आने वाले फेस्टिवल किसी शब्द का फुल फॉर्म किसी कंटेंट को लेकर स्क्रिप्ट किसी टॉपिक पर एप्लीकेशन अपने काम को करने के लिए न्यू आइडिया जो भी आप जानना चाहते हो आपको आंसर मिल जाता है चैट जीपीटी का इस्तेमाल आप इंग्लिश भाषा में तथा हिंदी भाषा दोनों में कर सकते हैं

चैट जीपीटी के फायदे, ( benefits of chat gpt)

गूगल की तरह चैट जीपीटी पर आंसर ढूंढने के लिए अलग-अलग वेबसाइट पर विजिट नहीं करना पड़ता है

Chat Gpt आपको डायरेक्टली आंसर देता है

Chat Gpt का इस्तेमाल फ्री में कर सकते हो

चैट जीपीटी के कुछ नुकसान ( negative sides of chat gpt)

Chat gpt आपको पहले से मौजूद इंटरनेट पर डाटा तथा इंफॉर्मेशन के हिसाब से अंसर देता है

कुछ सवालों के आंसर चैट गुप्त डायरेक्टली नहीं दे पता है

चैट जीपीटी पर और भी कहीं फीचर्स है लेकिन रिसर्च के अलावा और कुछ जानने के लिए आपको पेड करना पड़ता है

Chat gpt के पास डाटा सीमित मात्रा में है

क्या chat gpt से नौकरियां कम हो जाएगी

कई लोगों का मानना है कि चैट जीपीटी के आने से लोगों की नौकरी नौकरियां कम हो जाएगी क्योंकि इससे पहले भी टेक्नोलॉजी में देखा जाए या कैलकुलेशन में देखा जाए तो नई नई चीजों के आने से नौकरियां कम हुई है तो ऐसा ही चैट जेबीटी के आने से भी हो सकता है लेकिन अभी देखा जाए तो चैट जीपीटी के आने से नौकरियां कम नहीं हुई है क्योंकि चैट जेबीटी क्वेश्चन का जवाब सटीक तो देता है लेकिन जो जवाब देता है कोई कोई पूरे सेटिस्फेक्शन वाले नहीं होते हैं क्योंकि चैट जीपीटी पहले से मोबाइल व इंटरनेट पर जो डाटा है इंफॉर्मेशन से हिसाब जवाब देता है और कहीं इंटरनेट पर कई सारी वेबसाइट पर सही इंफॉर्मेशन मौजूद नहीं होती है तो चैट जी भी टीवी आपको इंफॉर्मेशन दिखा सकता है और कई बार दिखा भी देता है तो अभी तक चैट जीपीटी के आने से लोगों की नौकरियां पर कोई फर्क नहीं पड़ा है लेकिन अगर चैट जीपीटी आगे भी इस तरह से सटीक जवाब देता रहा और खुद को अपडेट करके नया वर्जन बना लिया और जो भी इंफॉर्मेशन देता है एकदम सटीक और फैक्ट देने लगा तो साजिश से फर्क पड़ सकता है लेकिन अभी तक ऐसा कुछ नहीं हुआ है

क्या chat gpt गूगल को रिप्लेस कर सकता है

जैसा कि हमने आपको बताया कि chat gpt आपको वही अंसर देता है जो कि पहले से इंटरनेट पर अवेलेबल है, और उसकी जिस तरह से train किया गया है, और इसके पास डाटा और इंफॉर्मेशन भी सीमित है लेकिन गूगल के पास हर फील्ड के बारे में data, information, knowledge, past, technology, सबकुछ का बहुत ही साम्राज्य है और चैट पीपीटी इन सब के हिसाब से ही आंसर प्रोवाइड करता है तो अभी तक चैट गुप्त बिल्कुल भी इतना स्ट्रांग नहीं है कि वह गूगल को रिप्लेस कर सके और गूगल को पीछे छोड़कर पहले स्थान पर आ जाए क्योंकि गूगल सदियों से चला आ रहा प्लेटफार्म है चैट जीपीटी का अभी गूगल को रिप्लेस करना बहुत ही मुश्किल है

Leave a Comment