Ecommerce business kya hota he – ई-कमर्स बिजनेस कैसे करते हैं, इसके लाभ और प्रकार भी बताये

Ecommerce business kya hota he – ई-कॉमर्स बिज़नेस जो कि आज के टाइम में कई बार सुनने को आता है और ई-कमर्स बिजनेस क्या होता है यह कई लोग जानना चाहते हैं वैसे तो आज के टाइम में सभी लोग ई-कमर्स बिजनेस से जुड़े हैं लेकिन उनको मालूम नहीं होता है कि एक्चुअल में इसको ही ई-कॉमर्स बिज़नेस कहते हैं और ई-कमर्स बिजनेस को कैसे करते हैं बढ़ते टाइम के साथ-साथ जैसे ऑनलाइन शॉपिंग का क्रेज लोगों में बढ़ रहा है वैसे ही ई-कमर्स बिजनेस को Growth मिल रही है ऑनलाइन बिजनेस करना ही ई-कमर्स बिजनेस करना होता है जब कोई भी कंपनी अपना ऑनलाइन बेजती है जैसे कि कस्टमर उसके ई-कॉमर्स प्लेटफार्म से उसकी वेबसाइट से कोई प्रोडक्ट आर्डर करता है और कंपनी के द्वारा कस्टमर के बताए गए एड्रेस पर डिलीवर कर दिया जाता है तो इस तरह सामान बेचने की प्रक्रिया को ही ई-कॉमर्स बिज़नेस कहते हैं ई-कमर्स बिजनेस करने के कई तरीके होते हैं जो कि आपको आगे बताएंगे और आने वाले टाइम में ई-कॉमर्स बिज़नेस एक grow होने वाला बिजनेस है

Explain in simple words about e commerce business

साधारण सी भाषा में कहें तो जिस तरह आप अमेजॉन पर या फ्लिपकार्ट पर कोई भी प्रोडक्ट आर्डर करते हैं जो आप खरीदना चाहते हैं उसे ऑर्डर को आप अपना डिलीवरी एड्रेस डालकर जहा आपको उस ऑर्डर को मंगवाना है ऑर्डर करदेते हो, और दो से चार दिन बाद आपको उस प्रोडक्ट जो आपने ऑर्डर किया था उसकी डेलीवेरी मिल जाती है तो इस तरह बिजनेस करने की प्रक्रिया को ही ई-कॉमर्स बिज़नेस कहते हैं मतलब की चीजों को ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के द्वारा सेल करना ग्राहक तक पहुंचाना ई-कमर्स बिजनेस होता है

ई-कमर्स बिजनेस कैसे करे How to start online business

ई-कमर्स बिजनेस को करने के कई तरह के लाभ होते हैं और इस तरह काम करने के लिए अलग से कोई पढ़ाई की आवश्यकता नहीं होती है केवल आपको ई-कमर्स बिजनेस के बारे में ही जानकारी होनी चाहिए की ऑनलाइन बिजनेस को करने का तरीका क्या होता है किस तरह इस तरह का बिजनेस को गो किया जाता है यह सारे काम आप इंटरनेट से भी सीख सकते हो लेकिन शुरुआत में केवल इंटरनेट से सीख कर शुरुआत करना मुश्किल होता है तो किसी एक्सपर्ट व्यक्ति जो कि इसके बारे में नॉलेज रखता रखता हूं उसके द्वारा प्रैक्टिकल भी सीख सकते हो तो ज्यादा अच्छे से आता है और धीरे-धीरे बहुत ही कम समय में आप भी अच्छे से उसको मैनेज करना सीख जाते हैं ज्यादातर लोग पहले से जो बड़े-बड़े ऑनलाइन प्लेटफॉर्म चल रहे हैं जैसे अमेजॉन फ्लिपकार्ट स्नैपडील इन पर अपनी आईडी बनाकर खुद को रजिस्टर करते हैं और अपने प्रोडक्ट को ऐसे बड़े-बड़े ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर अपने प्रोडक्ट का रेट फोटो डालकर पब्लिश करते हैं और वहां से आर्डर आने पर उनकी सेल होती है कुछ लोग इसके लिए अपनी खुद का ही कोई ऑनलाइन प्लेटफॉर्म मोबाइल एप्लीकेशन या गूगल वेबसाइट बनवाकर करते हैं लेकिन शुरुआत में इन सबके लिए उनको अपनी वेबसाइट या एप्लीकेशन के लिए एडवर्टाइजमेंट का बना होता है गूगल एड्स और करवाने होते हैं जिसके लिए पैसा भी खर्च होता है और शुरुआत में डिलीवरी के लिए एक मैनेजमेंट टीम भी बनाना पड़ती है जो भी ज्यादा इनवेस्टमेंट का काम होता है और अमेजॉन पर अगर रजिस्टर करके वहां से सेल करना होता है तो कस्टमर तक प्रोडक्ट पहुंचना अमेजॉन की तरफ से हैंडल किया जाता है जो की शुरुआत में एक अच्छा बेनिफिट होता है कोई अमेजॉन के द्वारा प्रोडक्ट सेल करता है तो अमेजॉन उसके लिए कमीशन चार्ज करता है अगर शुरुआत में अपने प्लेटफार्म के द्वारा समाज सेल करना हो तो इसकी शुरुआत एक लिमिटेड लोकेशन से की जा सकती है जो की ज्यादा दूर ना होती हो वैसे कई लोग शुरुआत से ही बड़ा लोकेशन कर करते हैं डिलीवरी के लिए वह कोरियर कंपनी को हायर कर लेते हैं और अगर अगर अच्छी तरह एडवर्टाइजमेंट करवा लिया जाए तो खुद की वेबसाइट एप्लीकेशन बनवाना बनवा कर किए जाने वाला ई-कॉमर्स बिज़नेस ज्यादा फायदेमंद होता है क्योंकि यहां पर किसी भी सेकंड पार्टी को किसी तरह की कमीशन नहीं देनी होती है इन्वेस्ट परसेंट निकालने के बाद जो प्रॉफिट होता है वह पूरा बिजनेस ओनर का होता है

ई-कमर्स बिजनेस के प्रकार ( Some ways of eCommerce business )

ई-कमर्स बिजनेस करने के भी कई तरीके होते हैं जिससे कि लोग शुरुआत करते हैं और अब उनके बारे में भी बताते हैं

  • B2B business Business To business बिजनेस टू बिजनेस शब्द आपने जरूर सुना ही होगा इसका मतलब यह होता है कि कोई बिजनेस ओनर अपने समाज को होलसेल में सेल करता है और होलसेल में समान कोई बिजनेस करने वाला व्यक्ति खरीदना है जो की खरीद कर रिटेलर के तौर पर कस्टमर को भेजता है और बिजनेस टू बिजनेस करने का यही तरीका है तो होता है कि कोई बिजनेस ओनर अपने समाज को बड़ी क्वांटिटी में बेचता है ऐसे व्यक्ति को जो कि खुद बिजनेसमैन होता है और रिटेल बिजनेस करता है बिजनेस टू बिजनेस करने से जिससे कि ज्यादा संख्या में समान सेल होता है
  • Business To customer – ई-कमर्स बिजनेस को बिजनेस टू कस्टमर तरीके से भी किया जाता है जिस्म की कोई बिजनेस ओनर अपने प्रोडक्ट को जो भी वह ऑनलाइन सेल करता है उनको डायरेक्ट कस्टमर तक पहुंचना है कस्टमर उसकी वेबसाइट या मोबाइल एप्लीकेशन पर प्रोडक्ट का आर्डर प्लेस करते हैं और कस्टमर को बेस सामान मिल जाता है मतलब की रिटेल इकॉमर्स बिजनेस ऑनलाइन तरीके से की जाता है
  • Consumer to consumer – कंजूमर टू कंज्यूमर का मतलब कस्टमर खुद ही कोई सामान कस्टमर को शेयर करता है जैसे कि आप कोई मोबाइल लेते हैं अपने उसे के लिए और बाद में 6 महीने बाद आप उसको भेजना चाहते हैं तो आप इसको ऑनलाइन रजिस्टर कर सकते हो जैसे लोग ओएलएक्स पर करते हैं और इस तरह सामान बेचा जाता है तो इसको कंजूमर टू कंज्यूमर बिजनेस बोलते है

F&Q

ई-कॉमर्स बिज़नेस कैसे करते हैं

Ans प्रोडक्ट को ऑनलाइन बेचकर किया जाता है

ई-कमर्स बिजनेस करने के लिए प्लेटफार्म

Ans – शुरुआत में ई-कॉमर्स बिज़नेस अमेजॉन फ्लिपकार्ट और भी कहीं प्लेटफार्म में जहां से किया जा सकता है

ई-कमर्स बिजनेस का दूसरा नाम क्या होता है

Ans – ई-कमर्स बिजनेस को दूसरे नाम के तौर पर हम इलेक्ट्रॉनिक बिजनेस या ऑनलाइन बिजनेस बोल सकते हैं

ई-कमर्स बिजनेस कौन शुरू कर सकता है

Ans – ई-कमर्स बिजनेस शुरू करने के लिए किसी तरह का एलिजिबल होना जरूरी नहीं केवल आपके पास अच्छा प्रोडक्ट होना चाहिए जो कि कस्टमर की नीड हो तो कोई भी शुरू कर सकता है

Disclaimer –

ई-कमर्स बिजनेस क्या होता है कैसे करते हैं इन सब के बारे में जानकारी हमने आपको इस आर्टिकल में बताइए अगर कोई शुरू नहीं भी करता है तो ई-कमर्स बिजनेस के बारे में जानकारी होनी चाहिए क्योंकि आगे इसका चलन और यादव बना है और जो लोग अभी करना चाहते हैं या कुछ टाइम बात करना चाहते हैं तो उनको भी जरूर जानकारी होनी चाहिए इसलिए जो भी बेसिक जानकारी ई-कमर्स बिजनेस या इलेक्ट्रॉनिक बिजनेस के बारे में हमने इस आर्टिकल में लिखी है

Leave a Comment