Network marketing kya he – नेटवर्क मार्केटिंग क्या होती है कैसे करते हैं

Network marketing kya he – दोस्तों आपने भी कभी ना कभी जरूर नेटवर्क मार्केटिंग का नाम तो सुना ही होगा कई लोगों ने इस को किया भी होगा लेकिन कुछ लोग इसका मतलब भी नहीं जानते होंगे तो आज बात करेंगे नेटवर्क मार्केटिंग के ऊपर की नेटवर्क मार्केटिंग क्या होती है दोस्तों जैसे net = जाल work = काम होता है मतलब जब बहुत लोग आपस में जुड़ते हैं तब नेटवर्क बनता है, दोस्तों सिंपल सी भाषा में अगर कहे तो नेटवर्क का मतलब एक व्यक्ति का दूसरे व्यक्ति से ( person to person ) आपस में जुड़कर अपनी कंपनी के लिए काम करना इसकी मार्केटिंग करना इस तरह के काम को नेटवर्क बनाकर काम करना मतलब की नेटवर्क मार्केटिंग कहा जाता है और नेटवर्क मार्केटिंग को डायरेक्ट सेलिंग और MLM मल्टी लेवल मार्केटिंग भी कहते हैं, जिसमें कई सारे लोग अपना नेटवर्क बनाते हैं और उसको बढ़ाते चले जाते हैं

डायरेक्ट सेलिंग क्यों कहा जाता है

कंपनी का जो मेन डायरेक्टर होता है वह अपने प्रोडक्ट को sell करने के लिए नेटवर्क बनाता है टीम बनाता है तो नेटवर्क मार्केटिंग को डायरेक्ट सेलिंग इसलिए कहा जाता है क्योंकि कंपनी जो भी प्रोडक्ट बेचती है उसे ऑनलाइन तरीके से या ऑफलाइन तरीके से सीधे कस्टमर के पास डिलीवर करवाती है मतलब कि उनको सेल करती है इसके लिए कंपनी के मेन डायरेक्टर नेटवर्क बनाते हैं और बीच में जो डिस्ट्रीब्यूटर होता है जिसके द्वारा फाइनल कस्टमर के पास प्रोडक्ट पहुंचता है उस डिस्ट्रीब्यूटर को कंपनी के द्वारा कमीशन के तौर पर निश्चित राशि दी जाती है और नेटवर्क मार्केटिंग से जो लोग जुड़ते हैं वह अगर अपने द्वारा किसी दूसरे व्यक्ति को कंपनी में जोड़ते हैं नेटवर्क में लाते हैं तो उनको जोड़ने का भी कमीशन मिलता है और अपने द्वारा जोड़े गए व्यक्ति के द्वारा जो काम किया जाता है जो प्रोडक्ट सेल किये जाते हैं उस सेलिंग पर भी जोड़ने वाले व्यक्ति को कमीशन दिया जाता है कंपनी की तरफ से इसीलिए नेटवर्क मार्केटिंग में जुड़े लोग अपने द्वारा वह लोगों को जोड़ते हैं और नेटवर्क मार्केटिंग का दायरा बढ़ता ही चला जाता है

नेटवर्क मार्केटिंग के प्रकार और कैसे जोड़ते हैं

  • सिंगल टियर नेटवर्क मार्केटिंग – दोस्तों इस तरह की मार्केटिंग में आप जब नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी से जुड़ते हैं तो किसी दूसरे व्यक्ति के द्वारा नहीं जोड़ते हैं खुद ही कंपनी में ज्वाइन कर लेते हैं अब ऐसा नहीं है कि आप सीधे कंपनी के में डायरेक्ट से मिल लेते हैं इसके लिए आपको कंपनियों की वेबसाइट विजिट करना पड़ता है
  • टियर टू नेटवर्क मार्केटिंग – इस नेटवर्क मार्केटिंग में आप किसी दूसरे व्यक्ति के द्वारा नेटवर्क मार्केटिंग का हिस्सा बनते हैं फिर जुड़ते है
  • मल्टी लेवल मार्केटिंग – इस तरह की मार्केटिंग में आप दो-चार या उससे भी अधिक लोगों के द्वारा जुड़ते हैं जो कंपनी से किसी और के द्वारा जुड़े हैं इसको मल्टी लेवल मार्केटिंग कहते हैं

नेटवर्क मार्केटिंग की कुछ कंपनियां

  • इंडिया में नेटवर्क मार्केटिंग की कई सारी कंपनियां है जैसे – 1. vestige marketing private limited, 2. Medicare 3. Herbal life, 4. Forever living product , अभी के टाइम में वेसटाइस प्राइवेट लिमिटेड नेटवर्क मार्केटिंग में सबसे ज्यादा grow कर रहा है और भी बहुत सारी कंपनीया है
  • वेसे इनके अलावा कुछ ऐसी कंपनियां भी होती है जो कि लोगों के साथ फ्रॉड भी करदेती है,

नेटवर्क मार्केटिंग के फायदे

personality development – नेटवर्क मार्केटिंग में जो भी व्यक्ति जुड़ता है तो कई सारे लोगों से मिलना होता रहता है वह लोग उनके कंपनी से जुड़े लोग भी होते हैं उनके कस्टमर भी होते हैं और अलग कंपनियों के भी लोग होते हैं और जब आप जुड़ते हो तो अपनी कंपनी के बारे में अपने प्रोडक्ट के बारे में लोगों को समझाते हो सही तरीके से बात करते हो तो उसमें आपका कम्युनिकेशन स्किल ठीक होता है आपके बात करने का तरीका बदलता है आपको लोगों से मिलने पर अलग तरह तरह के एक्सपीरियंस मिलते हैं उनसे कुछ सीखने को मिलता है आपकी इनकम तो होती है यह आपकी इनकम के अलावा का बेनिफिट होता है

दोस्तों यह थी नेटवर्क मार्केटिंग के बारे में कुछ महत्वपूर्ण जानकारी कोई ज्वाइन करें या ना करें वह एक अलग बात है लेकिन चीजों के बारे में बेसिक नॉलेज होना चाहिए इसीलिए इस तरह के आर्टिकल भी पढ़ना चाहिए और इसीलिए हम भी आर्टिकल पोस्ट करते हैं

Leave a Comment