शिवलिंग पर जल क्यों चढ़ाया जाता है, शिवलिंग पर जल चढ़ाने का कारण जाने

भगवान भोले के शिवलिंग पर जल चढ़ाने की कहानी जानिए

शिवलिंग पर जल क्यों चढ़ाया जाता है – भगवान भोले की पूजा करते टाइम सभी लोग शिवलिंग पर जल चढ़ाते हैं लेकिन क्या आप जानते हैं कि शिवलिंग पर जल चढ़ाना कब से चालू किया गया और क्यों किया गया आगे बढ़ने से पहले वीडियो को लाइक करके फॉलो करियेगा,

दोस्तों पुरानी कथाओं के अनुसार कहा जाता है कि कई बरसों पहले सावन के महीने में समुद्र मंथन किया गया था समुद्र मंथन करने के बाद उसे जो भी ब्रश निकला था उसको भगवान शिव ने पूरे संसार की रक्षा करने के लिए अपने कंठ में समा लिया था, लेकिन उस जहर को पी जाने के कारण भगवान शिव का कंठ पूरा नीला पड़ गया था जिसकी वजह से ही उनको नीलकंठ भी कहा जाता है तो उस जहर के प्रभाव को कम करने के लिए और भगवान शिव को आराम देने के लिए देवताओं के द्वारा भगवान शिव के ऊपर जल अर्पित किया गया था, इसीलिए जब कोई भगवान शिव की आराधना पूजा अर्चना करता है तो भक्तो के द्वारा शिवलिंग पर जल चढ़ाया जाता है जो की शिवलिंग पर जल चढ़ाने का सबसे बड़ा कारण माना जाता है जिससे कि उनकी मनोकामना पूरी हो सके,

तो दोस्तों पुरानी कथाओं के अनुसार ऐसा ही माना जाता है कि भगवान शिव ने सारी सृष्टि की रक्षा करने के लिए समुद्र मंथन के बाद निकल ब्रिज जहर को अपने अंदर समा लिया था जिस की सारी सृष्टि की रक्षा हो पाई थी तो इसलिए भगवान शिव की पूजा करते टाइम उनके शिवलिंग पर जल भी चढ़ाया जाता है

Leave a Comment